ग्वालियर में खुला प्रदेश का पहला ड्रोन स्कूल, सीएम शिवराज ने ड्रोन उड़ाकर किया शुभारंभ, केंद्रीय मंत्री सिंधिया भी रहे मौजूद

Gwalior News : ग्वालियर । प्रदेश का पहला ‘ड्रोन स्कूल’ ग्वालियर में खुल गया है। जिसका शुभारंभ गत दिवस सीएम शिवराज सिंह ने ड्रोन उड़ाकर की। सीएम का ड्रोन 60 फीट की ऊंचाई पर पहुंचकर डगमगाने लगा। यह देख उनके पास ही खड़े केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम के अनियंत्रित ड्रोन को उसी अंदाज में

थाम लिया, जैसे मप्र की सत्ता से बेदखल होने के बाद सिंधिया ने भाजपा में आकर शिवराज को फिर से सीएम की कुर्सी तक पहुंचा दिया था। सिंधिया ने ड्रोन उड़ा रहे सीएम के हाथ के रिमोट कंट्रोल को अपने हाथों से ऑपरेट कर उनके ड्रोन को संभाला और उसे सुरक्षित नीचे उतारा।

सिंधिया के इस अंदाज को देखकर वहां मौजूद अन्य नेताओं में भी चर्चा छिड़ गई। इस दौरान सिंधिया के साथ-साथ प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा भी सीएम की मदद करने में पीछे नहीं रहे। कार्यक्रम में सिंधिया और वीडी शर्मा सीएम के सबसे बड़े सहयोगी के रुप में खड़े नजर आए।

प्रदेश का पहला ड्रोन स्कूल खुला ग्वालियर में

ग्वालियर में 3 महीने पहले एमअाईटीएस संस्थान के मैदान पर केंद्रीय नागरिक उड्‌डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रयासों से ड्रोन मेला लगाया गया था। इसमें मुख्य अतिथि के रूप में सीएम शिवराज सिंह और विशेष अतिथि के रूप में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर शामिल हुए थे।

उस दौरान देश की बड़ी 11 कंपनियों ने 32 तरह के ड्रोन का प्रदर्शन किया था। इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में जल्द पांच ड्रोन स्कूल खोलने की घोषणा की थी।

यह ड्रोन स्कूल इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर और सतना में खोले जाने हैं। इसीके तहत प्रदेश का पहला ड्रोन स्कूल ग्वालियर के एमआईटीएस में खुला है।

गुरुवार को ड्रोन स्कूल के शुभारंभ के लिए प्रदेश के मुखिया सीएम शिवराज सिंह ग्वालियर पहुंचे। उनके साथ में नरेंद्र सिंह तोमर और ज्योतिरादित्य सिंधिया भी थे।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष भी हुए शामिल

ग्वालियर में ड्रोन उड़ाते समय सीएम शिवराज सिंह रोमांच से भरे नजर आए। जिस समय वह ड्रोन को आसमान में ऊंचाई पर ले गए तो उनके चेहरे के हावभाव काफी उत्साहजनक थे, लेकिन इस दौरान ड्रोन लड़खड़ाने लगा। जिस पर पास खड़े सिंधिया ने उनकी मदद की है।

साथ ही प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा भी उनको ड्रोन रिमोट कंट्रोल के बारे में समझाते और बताते नजर आए। दोनों की मदद पर वहां मौजूद नेता यही चर्चा करते नजर आए कि इन दोनों नेताओं ने ही उनकी सरकार के ड्रोन को साध रखा है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close