दतिया में प्रथम बार हुआ गुर्दे की पथरी का सफल ऑपरेशन, मेडीकल कॉलेज की सर्जरी टीम को मिली बड़ी कामयाबी

Datia News : दतिया । मेडीकल कॉलेज दतिया के चिकित्सकों की टीम अब उन आॅपरेशन को करने में भी सफल हो रही है, जिसके लिए मरीजों को बड़े शहरों की ओर जाना मजबूरी होता था। लेकिन मेडीकल कॉलेज दतिया इस दिशा में लगातार कामयाबी हांसिल कर रहा है। 4 मार्च को भी सर्जरी विभाग द्वारा एनाट्रोपिक नेफ्रोलिथोटोमी द्वारा दतिया में प्रथम बार गुर्दे की पथरी का सफल ऑपरेशन किया गया।

मेडीकल कॉलेज दतिया के सह अधीक्षक डॉ. हेमंत जैन ने बताया कि शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय द्वारा समय-समय पर मरीजों के हित के लिए कार्य किया जाता रहा है।

इसी क्रम में शुक्रवार 04 मार्च को 45 वर्षीय दशरथ रायकवार निवासी बिजौली उप्र के गुर्दे की पथरी का आपरेशन एनाट्रोपिक लिथोटोमी विधि से मेडिकल कॉलेज के सर्जरी विभाग के डॉ. के.एन. आर्य एवं डॉ.ब्रजेंद्र स्वरूप, डॉ.जॉय, डॉ.मुदित, डॉ. शीतल द्वारा सफलता पूर्वक किया गया। इस दौरान डाॅ.मंजुलता शाक्य, डॉ.डिंपल सहित नर्सिंग स्टाफ में खुशबू, अतुल एवं रवि भी साथ रहे।

गौरतलब है कि मरीज पिछले 3 सालों से इस समस्या से परेशान था। जब मरीज को डॉ. के.एन. आर्य द्वारा देखा गया तब मात्र 2 दिनों के अंदर यह आपरेशन उन्होंने कर दिया। इस विधि में मरीज के गुर्दों को बर्फ से ढंक कर कोल्ड इस्चिमिया पैदा किया गया और फिर रक्त धमनियों को क्लैंप कर गुर्दे को दो हिस्सों में बांट कर पथरियों को निकाल दिया गया।

मरीज के गुर्दे में पथरियों की संख्या ज्यादा थी और सामान्य तरीके से ऑपेरशन में पथरियां एक बार में निकल नहीं पाती हैं, इसलिए यह आपरेशन किया गया। प्राइवेट हॉस्पिटल्स में इस ऑपेरशन का खर्च लगभग 2 लाख रुपये के करीब आता है।

लेकिन मेडीकल कॉलेज में यह ऑपरेशन आसानी से कर दिया गया। कॉलेज के डीन डॉ.दिनेश उदैनिया ने सभी चिकित्सकों सफल आपरेशन के लिए बधाई दी है। साथ ही मरीजों के हित में कार्य करने के लिए प्रोत्साहित भी किया है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close