बैठकों से गायब रहने वाले अधिकारियों की कलेक्टर ने कसी लगाम, अब भरना पड़ेगा जुर्माना, लेटलतीफी पर भी कसावट

Datia News : दतिया। जिला अधिकारियों की लेटलतीफी पर अब उन्हें जुर्माना भरना पड़ेगा। बैठकों में देर पहुंचने या गैर हाजिर रहने की अधिकारियों की आदत पर लगाम कसने के लिए कलेक्टर ने यह कदम उठाया है। ताकि अधिकारियों को समय की पाबंदी का अहसास हो।

अक्सर देखने में आ रहा था कि कई आवश्यक बैठकों में जिले के अधिकारी देर से पहुंच रहे थे। कई बार तो अधिकारी बैठक में पहुंचते ही नहीं है। जिससे मौके पर अधिकारी उपस्थित न मिलने से बैठक में आवश्यक जानकारियों का आदान प्रदान होने में भी दिक्कत आने लगी थी।

अधीनस्थों की इस आदत सुधार लाने के लिए कलेक्टर ने अर्थदंड मुकर्रर कर दिया है। अब कोई भी अधिकारी टीएल बैठक में देर से पहुंचेगा तो उसे सौ रुपये की राशि रेडक्रास में जमा करानी पड़गी। कलेक्टर संजय कुमार ने सोमवार को टीएल बैठक में कुछ विभागों के जिला अधिकारी अनुपस्थित रहने एवं देर से आने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए यह कदम उठाया है।

जिसके बाद भविष्य में समय सीमा की बैठक में देर से आने एवं बिना सूचना के अनुपस्थित रहने पर अधिकारियों को सौ रुपये की राशि रेडक्रास में जमा करानी होगी।

कलेक्टर ने इस मामले में सख्ती दिखाते हुए उक्त आदेश के पालन के भी कड़े निर्देश दिए हैं। उन्होंने प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को भी फटकार लगाई।

कलेक्टर के इस फैसले के बाद उन अधिकारियों की लेटलतीफी पर लगाम कसेगी जो आवश्यक बैठकों में आने से कतराते हैं। साथ ही उन पर भी सख्ती रहेगी जो बैठकों में अनुपस्थित रहते हैं।

पूर्व में भी ऐसे अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस भी जारी किए गए थे। उसके बाद भी उनकी आदतों में सुधार न देखते हुए जुर्माने का कदम उठाया गया है। ताकि रेडक्रास के पास भी राशि आए और जुर्माना भरने वाले अधिकारियों के नाम भी दर्ज हो। जो आसानी से संज्ञान में आ सकें।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close