आग ने 10 गांवों की फसल जलाकर कर दी राख : आधा सैकड़ा किसानों को हुआ 60 लाख का नुकसान, गृहमंत्री ने किसानों को दिलाया मदद का भरोसा

Datia News : दतिया। रविवार सुबह 11 बजे भगुवापुरा क्षेत्र के ग्राम भैंसई में अचानक भड़की आग ने आसपास के करीब 10 गांवों की 500 बीघा से ज्यादा खड़ी फसल जलाकर राख कर दी। इस भीषण अग्निकांड में करीब आधा सैकड़ा किसानों को नुकसान हुआ है।

आगजनी में सेवढ़ा अनुभाग के दो थाना क्षेत्र भगुवापुरा एवं अतरेटा के 10 गांवों में गेहूं की फसलों में लगी भीषण आग से करीब 60 लाख की फसल जलकर नष्ट हुई है। आग पर काबू पाने के लिए दतिया, सेेवढ़ा, इंदरगढ़, भांडेर, लहार एवं दबोह नगर पालिका की 7 फायर बिग्रेड लगी रही। इसके बाद भी शाम 5 बजे तक आग पूरी तरह नहीं बुझ सकी थी।

हवा के साथ फैलती जा रही आग को बुझाने के लिए फायर बिग्रेड वाहन लगातार प्रयास करते रहे। जहां-जहां आग बढ़ी वहां फायर बिग्रेड ने पहुंचकर आग को बुझाने का काम किया। करीब 10 किमी के एरिया को आग ने अपनी चपेट में ले लिया था।

घटना की जानकारी लगते ही एसडीएम अनुराग निंगवाल ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचे। वहीं आगजनी की खबर मिलने पर गृहमंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा भी ग्राम व्यासपुरा पहुंचे जहां उन्होंने पीड़ित किसानों को ढांढस बंधाते हुए हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

उन्होंने कहाकि संकट की इस घड़ी में सरकार किसानों के साथ खड़ी है। सेवढ़ा विधायक घनश्याम सिंह ने भी किसानों के साथ खेतों में जलकर राख हुई फसलों को देखा और किसानों को सांत्वना दी। शाम को कलेक्टर संजय कुमार व एसपी अमन सिंह राठौर भी अग्निपीड़ित गांवों का मुआयना करने पहुंचे।

आसमान में छा गया काले धुंए के गुबार : खेतों में फैली आग इतनी प्रचंड थी कि कुछ ही देर में आसमान में काला धुंआ छा गया। तेज धूप के बाद भी आसमान में ऐसा लग रहा था कि जैसे काले बादल छा गए हों। इस धुएं के कारण अाग से जली रही फसल को बुझाने के कार्य में भी परेशानी हुई।

धुएं के कारण आग बुझाने के काम में लगे लोगों को भी काफी मशक्कत करनी पड़ी। हवा के साथ बढ़ रही आग को बुझाने में फायर बिग्रेड वाहन लगातार लगे रहे।

करीब 6 घंटे की मेहनत के बाद भी आग पूरी तरह नहीं बुझ सकी थी। जहां-जहां आग फैलती जा रही थी उसे बुझाने के लिए फायर बिग्रेड प्रयास करती रही।

भैंसाई और व्यासपुरा से शुरू हुआ आग का तांडव : रविवार सुबह ग्रामीण रामनवमी पर्व की तैयारी में थे। इसी दौरान सुबह 11 बजे ग्राम भैंसाई और व्यासपुरा के बीच बने खेतों में खड़ी गेंहूं की फसल ने आग पकड़ ली। आग फैलने की खबर मिलते ही किसान खेतों की ओर दौड़ पड़े।

उन्होंने अाग बुझाने का प्रयास भी किया लेकिन आग की भीषण लपटों के आगे कुछ कर पाना मुश्किल हो गया। देखते ही देखते आग ने आसपास के गांवों में भी तांडव मचा दिया।

इस आगजनी में थाना क्षेत्र भगुवापुरा व अतरेटा में आने वाले गांव भैंसाई, कंुवरपुरा, व्यासपुरा, खंजापुरा, गाेपालपुरा, छोटा पोरसा, धर्मपुरा, बडोखरी, अटरा, जसावली, रठावली आदि गांवों में खड़ी गेंहंू की फसल और नरवाई जलकर राख हो गई।

ग्राम व्यासपुरा में किसान दिनेश सोमवंशी और भारत सिंह सोमवंशी की 90 बीघा फसल जल गई। आग बुझाने के दौरा किसान दिनेश साेमवंशी तो आग की लपटों में घिर गए। जिन्हें आसपास के किसानों ने किसी तरह बचाकर बाहर निकाला।

किसानों की दुख देख गृहमंत्री की आंख भी हुई नम : आगजनी की खबर मिलने पर किसानों के बीच पहुंचे गृहमंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा ने खेतांे में जली पड़ी फसलों को देखा। किसानों ने रोते हुए गृहमंत्री के समक्ष अपना दुख व्यक्त किया। जिसे देख गृहमंत्री भी भावुक हो गए।

उन्होंने पीड़ित किसान को ढांढस बंधाते हुए कहाकि चिंता न करें इस संकट में सरकार हर संभव मदद करेगी। गृहमंत्री ने इस मौके पर जिला प्रशासन के उपस्थित अधिकारियों को अग्निकांड में जली फसल का तीन दिन में सर्वे कर नियमानुसार पीड़ित किसानों को सात दिवस के अंदर सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

वहीं सेवढ़ा विधायक घनश्याम सिंह ने भी मौके पर पहुंचकर नुकसान का जायजा लिया व शासन से हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। सेवढ़ा एसडीएम अनुराग निगवाल ने किसानों को भरोसा दिलाया कि फसल का जो नुक़सान हुआ है उसका सर्वे कराया जाएगा।

कलेक्टर बोले जल्दी बनाएं सर्वे दल :  अग्निकांड में फसलों को हुए नुकसान का जायजा लेने पहुंचे कलेक्टर संजय कुमार ने भी गांव में पहुंचकर अग्निकांड़ से पीड़ित किसानों से चर्चा की और कहाकि शीघ्र ही गेंहूं की नुकसान हुई फसल के सर्वे एवं आंकलन के लिए दलों का गठन कर कार्रवाई की जाएगी।

इस संबंध में उन्होंने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सेवढ़ा को भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए। अनुविभागीय दंडाधिकारी अनुराग निंगवाल ने बताया कि अनुभाग के तहत 9 गांव में अग्निकांड से लगभग 2800 हैक्टेयर क्षेत्र में गेंहूं की फसल प्रभावित हुई है।

उन्होंने बताया कि प्रभावित हुए गांव में भैंसई, कुंअरपुरा, व्यासपुरा, भगुवापुरा, रखावली, गोपालपुरा, पोरसा और अटरा शामिल है। इन ग्रामों में फसलों की क्षति सर्वे का कार्य सोमवार से शुरू होगा।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close