गर्मी ने दिखाया रौद्र रूप, अब तक के रिकार्ड स्तर पर पहुंचा पारा, तेज धूप में सुनसान रही सड़कें, घरों में कैद रहे लोग

दतिया । गर्मी की सितम शुरू हो गया है। सूर्य की तेज तपन सुबह से ही लोगों को परेशान करने लगी है। जिसके बाद से पारे की रफ्तार ऊपर की ओर बढ़ने लगी है। यही हाल रहा तो मई जून जैसे हालात अप्रेल में नजर अाने लगेंगे। मंगलवार को भी सीजन का रिकार्ड तापमान रहा। गर्मी के इस मौसम में पहली बार मंगलवार को पारा अपने रिकार्ड स्तर 42.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। इस तेज गर्मी से जहां लोग दिन भर पसीना पोंछते नजर आएं वहीं तेज धूप से बचने के लिए लोग घरों में दुबके रहे।

दोपहर में बाजार भी सूने रहे। गत रात को न्यूनतम पारे में 5.4 डिग्री का उछाल आया है। न्यूमतम तापमान 16.4 से बढ़कर 21.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। बढ़ी हुई गर्मी से लोगों को आराम नहीं मिल पाया और कूलर पंखों का सहारा लेना पड़ा। जबकि चार दिन पूर्व रात का पारा 16 से 18 डिसे के बीच स्थिर था। मौसम के इस बदलाव का असर सामान्य जनजीवन पर भी पड़ा है। विगत सोमवार दिन का पारा अधिकतम तापमान 41.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था। इसीके साथ न्यूनतम तापमान में लगातार बढ़ता जा रहा है। गत रविवार की रात का तापमान न्यूनतम पारा 16.4 डिग्री सेल्सियस आंका गया था। तेज हुई गर्मी के कारण दिन में लू के थपेड़ों का लोगों को सामना करना पड़ा।

ग्रामीण क्षेत्रों में गेंहूं की फसल पक जाने के कारण खेत में मजदूरी कर रहे किसानों को दिनभर गर्म हवाओं ने परेशान किया। बता दें कि पिछले 4 दिनों से तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के अंदर था, किंतु अचानक दो दिनों में मौसम ने करवट ली। पारे का मिजाज गर्म हो गया। हालांकि हवा की गति कम होने से लू तो कम महसूस की गई, वाहनों पर या खुले क्षेत्रों में निकलने पर लू के थपेडे़ महसूस किए गए।

सोमवार को गर्मी के साथ हवा की गति 6.5 किलोमीटर प्रति घंटा होने के कारण दिन में चलने वाली गर्म हवा से बचने के लिए लोगों ने मास्क के अलावा सिर और मुंह ढंकने के लिए गमछे का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। इधर दूसरी ओर तापमान बढ़ने के कारण अनेक जगह पर आगजनी की घटनाएं हो रही है। अभी तक लगभग आधा दर्जन से अधिक खेतों में फसलें जलकर स्वाह हुई है।

मौसम विभाग का कहना है कि आगामी दो-तीन दिनों में पारे में वृद्धि हो सकती है। लोग अपना गर्मी से बचाव करें और धूप में ज्यादा ना निकले। कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों का कहना है कि मौसम खुला होने से और बादल नहीं होने से गर्मी ज्यादा रहेगी। अन्य शहरों में भी मंगलवार को पारा 40 डिग्री सेल्सियस के पार हो गया है। आने वाले समय तापमान के और अधिक बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter