‘अनुपमा’ के प्यार को लगने वाली है काली नजर, बा ने बिछाया ये नया जाल !

मुंबई । ‘अनुपमा’ टीवी शो में शानदार मोड़ आने वाला है। अनुज अपनी अनुपमा को वो सारी खुशियां देना चाहता है जो उसने सोच रखी हैं। अनुज और अनुपमा की शादी को लेकर बापूजी, किंजल, समर, तोशू और पाखी खुश हैं। लेकिन वनराज, बा और काव्या अभी भी इस रिश्ते में खटाई डालने की फिराक में हैं।

इधर बा ने अनुपमा की खुशियों में आग लगाने के लिए एक ऐसे शख्स को बुलाने की तैयारी कर ली है। जिसके आने के बाद एक बार फिर इस शादी में तूफान आने वाला है।

कहानी में इन दिनों शादी की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। अनुज, अनुपमा को एक तोहफा देगा। जिसे देखकर अनुपमा इमोशनल हो जाएगी। इस कीमती तोहफे को देखकर वनराज का मुंह लटकने वाला है।

किंजल अनुपमा से कहेगी कि उसकी जिंदगी में अनुज से बड़ा और क्या तोहफा हो सकता है। वह बस उसे संभाल कर रखे। परिवार के लोगों की खुशियों भरी बातें वनराज और बा को तीर बनकर चुभ जाएंगी।

अनुपमा की तरह कहीं बच्चे भी न बदल दें पिता : अपनी मां अनुपमा की खुशी में अब उसके तीनों बच्चे और बहू भी शामिल हो गए हैं। तोशू, पाखी और समर, अनुज का तिलक लेकर जाते हैं। जहां यह सब डांस कर खूब एंजॉय करते हैं। शादी में बच्चों की खुशी देखकर वनराज की नींद उड़ जाएगी।

वह सोच में पड़ जाएगा कि कहीं अनुपमा की तरह बच्चे भी उसका साथ छोड़कर कहीं अपना पिता ही न बदल दें। वह सोचेगा कि अनुज उसके बच्चे न छीन ले।

अब सासु की मां बनकर आएगी विलेन : अनुपमा की शादी में अभी और हंगामे होना बाकी है। बा कतई नहीं चाहती कि अनुपमा और अनुज की शादी हो। इसके लिए वह कोई न कोई तरकीब सोच ही रही है।

इसे भी पढ़ें : दूल्हा बनने की खुशी में अनुज को चारों तरफ नजर आने लगी जन्नत!

इस बार उन्होंने इस शादी को रोकने के लिए अपनी मां का सहारा लेने का प्लान बनाया है। बा अपनी मां को फोन करके वहां आने के लिए कहेगी। शो में इस नई एंट्री के बाद धमाके होने वाले हैं।

अनुपमा को सजाएंगे बापूजी : इधर शादी से खुश बापूजी अनुपमा का मैनिक्योर करते हैं। यह देख बा की भौंए तन जाती है। वह बड़बड़ाना शुरू कर देती हैं। वह अनुपमा से अपने बापूजी से सेवा करवाने के लिए खूब खरीखोटी सुनाती हैं। इधर वनराज के साथ अपने रिश्ते को भुलाने पर भी ताने देती हैं।

इस बात को सुनकी अनुपमा भी जवाब देने से पीछे नहीं हटती है और वनराज के साथ रिश्ते का दर्द उनके सामने बताती है। यह सुनकर बा का गुस्सा और भड़क जाता है। लेकिन बापूजी बात को संभाल लेते हैं और बा को चुप करवाते हैं।

हीरे की अंगूठी देख भावुक हुई अनुपमा : इधर अनुज, अनुपमा को ढेर सारी हीरों की अंगूठियां दिखाकर उससे अपनी पसंद की अंगूठी चुनने के लिए कहता है। यह देख अनुपमा को अपने पिछले दिन याद आ जाते हैं और वह भावुक हो जाती है। वह रोते हुए अनुज से कहती है आपने इन थेपला बनाने वाले हाथों में हीरे की अंगूठी पहना दी।

अनु कहती है कि जो चीजें उसने कभी सपने में भी नहीं सोची थीं, वो अब उसके जीवन में हो रही हैं। अनुपमा अपने लिए सिंपल सी अंगूठी चुनती है और घरवालों को भी दिखाती है। अनुपमा को इतना खुश देख किंजल कहती है कि उसके पास वो हीरा है जो किसी और के पास नहीं। इस बात को सुनकर वनराज और बा का मुंह बन जाता है।

‘अनुपमा’ को लगने वाली हैं हल्दी और मेंहदी, दूल्हा बनने की खुशी में अनुज को चारों तरफ नजर आने लगी जन्नत!

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close