डिवाइडर पर हादसों का कारण बन रहे थे पेड़ : समाजसेवी ने खुद व्यवस्थित करने का उठाया बीड़ा, पेड़ों की कर दी छटाई

Datia News : दतिया। शहर की ठंडी सड़क स्थित रोड का नामकरण लाडली लक्ष्मी पथ तो कर दिया गया, लेकिन यहां की स्थिति को लेकर नगर पालिका कतई गंभीर नहीं है। इस सड़क पर डिवाइडरों पर लगे पेड़ की डालें सड़क किनारों पर लटकने से हमेशा यहां से गुजरने वाले वाहनों के दुर्घटना का शिकार होने का अंदेशा रहता है। इस स्थिति को देख डिवाइडरों पर लगे पेड़ों को व्यवस्थित करने की जिम्मेदारी अब समाजसेवी खुद उठाने में जुट गए हैं।

इसीको लेकर शहर के समाजसेवी डा.राजू त्यागी को जब यह समस्या नजर आई तो उन्होंने स्वयं ही बीड़ा उठाकर उन पेड़ पौधों को छांटने एवं साफ सफाई का कार्य प्रारंभ कर दिया। अभी हाल ही में मप्र के स्थापना दिवस के अवसर पर प्रशासन द्वारा इस ठंडी सड़क का नया नामकरण लाडली लक्ष्मी पथ कर दिया गया है।

लेकिन नगर पालिका द्वारा सड़क के सौंदर्यीकरण के कार्य में कोई रुचि न दिखाए जाने से डिवाइडर के बीच में लगे पेड़ पौधों की डालें बाहर निकल कर वाहन चालकों से टकराती थी। जिससे दुर्घटना होने की संभावनाएं बढ़ रही थीं। यह देख समाजसेवी डा.राजू त्यागी ने स्वयं ही उन पेड़ पौधों को छांटने का काम शुरू किया। उनके इस प्रयास से एक बार फिर डिवाइडरों पर लगे पेड़ पौधे फिर से व्यवस्थित हो गए। डा.त्यागी ने बताया कि डिवाइडरों पर दखनी बबूल के कुछ पौधे भी उगने लगे हैं। जिन्हें नपा को समय रहते हटवाने का कार्य करना चाहिए, नहीं तो यह जब बड़ा आकार लेंगे तो डिवाइडर को क्षति पहुंचाने के साथ आवागमन में भी बाधक बनने लगेंगे।

उन्होंने कहाकि नपा के प्रयासों में हर संभव मदद की जाएगी। लेकिन संबंधितों को भी इसके लिए रुचि दिखानी होगी। डा.त्यागी ने कहाकि शहरवासियों का भी कर्तव्य है कि वह अपने गली मोहल्लों को साफ सुथरा रख अपने शहर को प्रदेश व देश में स्वच्छता में अग्रणीय बनाएं।

गौरतलब है कि डॉ.त्यागी समाजसेवी कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते रहे हैं। क़िला चौक पार्क का सौंदर्यीकरण, पॉलीथिन मुक्त दतिया अभियान, ग्रीन दतिया-क्लीन दतिया अभियान सहित उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्र को गोद लेकर सामाजिक सरोकार के कार्यों में अपनी खास पहचान बनाई है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter