यूक्रेन के दो शहरों में सीजफायर पर सहमत हुआ रूस, संकट में फंसे लोगों के निकलने तक नहीं करेगा हमला

कीव :  रूसी सेना शनिवार से यूक्रेन के दो क्षेत्रों में संघर्ष-विराम पर सहमत हो गई है, ताकि वहां फंसे नागरिकों को सुरक्षित निकाला जा सके। रूस की सरकारी न्यूज एजेंसियों ने यह जानकारी दी।आरआईए नोवोत्सी और तास न्यूज एजेंसी ने रूसी रक्षा मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के हवाले से बताया कि मॉस्को यूक्रेनी बलों के साथ कुछ निकासी मार्गों पर संघर्ष-विराम के लिए सहमत हो गया है, ताकि नागरिकों को दक्षिण-पूर्व में रणनीतिक लिहाज से अहम बंदरगाह शहर मारियुपोल और पूर्वी शहर वोल्नोवाखा से सुरक्षित निकालने में मदद मिल सके।

हालांकि, यूक्रेनी सेना की तरफ से अभी संघर्ष-विराम की कोई पुष्टि नहीं की गई है और फिलहाल यह भी स्पष्ट नहीं है कि निकासी मार्ग कब तक खुले रहेंगे। यूके का रक्षा मंत्रालय रूस के सैनिकों की आवाजाही पर बारीकी से नज़र रख रहा है.

उसने कहा है कि मॉस्को दक्षिणी बंदरगाह शहर मायोकोलाइव की ओर बढ़ रहा है. यूक्रेन ने खार्किव, चेर्निहाइव और मारियुपोल के प्रमुख शहरों पर कब्जा करना जारी रखा है. सूमी में सड़क पर लड़ाई की खबरें आई हैं. यह संभावना भी है कि चार शहरों को रूसी सेना ने घेर लिया है और पिछले 24 घंटों के दौरान तोपों से कम हमले किए गए हैं.

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि यूक्रेन पर रूस का हमला केवल इस देश (यूक्रेन) पर हमला नहीं है, बल्कि यूरोप और वैश्विक शांति पर हमला है. बाइडन ने शुक्रवार को फिनलैंड के राष्ट्रपति के साथ बातचीत के बाद संवाददाताओं से कहा कि दोनों देश कुछ वक्त से लगातार संपर्क में हैं. उन्होंने मिलकर रूसियों के खिलाफ संयुक्त प्रतिक्रिया दी है और यूक्रेन के खिलाफ अकारण तथा गैर उकसावे वाले आक्रमण के लिए रूस की जवाबदेही तय कर रहे हैं.

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close