विक्रांत, ममता से बदला लेने की रचेगा साजिश : शादी में तीन मंडप देख रणवीर का माथा ठनका

सिर्फ तुम : एपिसोड की शुरुआत कामिनी और सुहानी से होती है। वो उसे और अधिक महंगा उपहार देती है। वह कहती हैं कि यह महंगा भी हो सकता है। सुहानी कहती है कि इरादे देखे जाते हैं न कि हार की कीमत। कामिनी कहती है कि आप पहले ही बहुत कुछ कर चुकी हो। निक्की को सुहानी से सीखने के लिए कहती है। निक्की कहती है कि तुम मुझे अकेला मत छोड़ो। कामिनी कहती है कि वह शादी के बाद अपने घर आएगी।

सुहानी कहती है कि मैं थक गई हूं और सो जाऊंगी। सुधा शुभरात्रि कहती है और सुहानी से कहती है कि वह रणवीर को लंबे समय तक जागने के लिए न कहे, क्योंकि उसे भी जल्दी उठना पड़ता है। सुहानी मुस्कुराती है। सुधा जाती है। सुहानी मुड़ती है और रणवीर को खड़ा देखती है।

वह उससे कहती है कि अगर दूल्हा और दुल्हन मिलते हैं तो यह अशुभ होता है। वह पूछता है कि सुहानी कहां है, जिससे वह मिलने आया था। सुहानी कहती है कि हम रीति-रिवाजों का पालन करेंगे। रणवीर कहता है कि वह उससे मिलने आया था

आखिरी बार, क्योंकि वह कल से उसकी होगी। सुहानी इमोशनल हो जाती हैं। रणवीर उसकी मेहंदी की तरफ देखते हैं। वह उसे सावधान रहने के लिए कहती है क्योंकि उस पर पति का नाम लिखा होता है। वह अपना नाम ढूंढता है और सुहानी को बताता है।

CONNECT WITH US FOR LATEST UPDATES  –

FACEBOOK GROUP  JOIN NOW | CLICK HERE 
LIKE OUR FACEBOOK PAGE  CLICK HERE 
WHATSAPP GROUP   JOIN NOW | CLICK HERE 

सुहानी पूछती है कि उसने हाथ में मेहंदी क्यों नहीं लगी। वह कहता है कि वह व्यवस्थाओं में व्यस्त है और जॉन और रघु पर सब कुछ नहीं छोड़ सकता। वह उससे अपने हाथ में मेहंदी लगाने के लिए कहता है। वह मेहंदी कोन लेती है और उसके हाथ पर अपना नाम लिखती है। रणवीर और सुहानी इसे देखते हैं।

वह उसे दुल्हन की चुनरी से ढक देता है। सुहानी कहती हैं कि सब कुछ एक सपने जैसा लगता है। रणवीर का कहता है कि वह कल उसी मंडप पर उससे शादी करेंगे, जिसे उसने अपने हाथ से सजाया था। वह कहता है कि वह हमेशा उसकी बातों का पालन करेगा।

विक्रांत किसी से बात करता है और कहता है कि मजा आएगा। ममता वहां आती है और उससे दवा लेने को कहती है। उसने मना कर दिया। ममता उसे हल्दी वाला दूध पीने के लिए कहती है। वह कहते हैं कि आप अपने बेटे के साथ मेरे घाव को खरोंचते हैं और फिर इस हल्दी दूध की पेशकश करके मेरी देखभाल करने का काम करती हैं।

CONNECT WITH US FOR LATEST UPDATES  –

FACEBOOK GROUP  JOIN NOW | CLICK HERE 
LIKE OUR FACEBOOK PAGE  CLICK HERE 
WHATSAPP GROUP   JOIN NOW | CLICK HERE 

ममता कहती हैं कि मैंने अपने बेटे का समर्थन किया है, लेकिन तुम्हें नहीं छोड़ा। वह कहती है कि तुमने आशा जी को घर से निकाल दिया है, हालांकि मैंने आपत्ति की और आपने उस सस्ती लड़की को अपनी बहू बनाने का फैसला किया। वह उसे तब तक मनाने के लिए कहता है जब तक वह चाहती है।

ममता दूसरों के साथ हॉल में आती है। जॉन और रघु भी हैं। रणवीर वहां आते हैं, शेरवानी और पगड़ी में तैयार होता है। ममता मुस्कुराती है और बुरी नजर को दूर करने के लिए उसके कान के नीचे काजल लगाती है। दादा जी कहते हैं हम चलेंगे, वरना देर हो जाएगी। ममता पूछती हैं कि विक्रांत जी कहाँ हैं? विक्रम कहते हैं भाई साहब सीधे मंडप पहुंचेंगे। वो जाते हैं।

वे विवाह स्थल पर पहुंच जाते हैं। बैंड म्यूजिक और शहनाई बजाई जाती है। वे कार्यक्रम स्थल के अंदर आते हैं और राकेश और उसके परिवार को बधाई देते हैं। सुहानी ने ममता को बधाई दी। वह रणवीर को देखती है। रणवीर भी उनकी तरफ देखते हैं और मुस्कुराते हैं।

जब वे अंदर जाते हैं तो वह चुपके से उसका हाथ पकड़ लेता है। वे सभी मैरिज हॉल में तीन मंडप देखते हैं। रणवीर पूछते हैं कि यहां तीन मंडप क्यों हैं। राकेश कहते हैं कि मैंने भी इसे अब देखा। उनका कहना है कि यह समझ से परे है। रणवीर जॉन और रघु से कहते हैं कि उन्होंने एक मंडप सजाया, फिर तीन कैसे हो गए? रघु कहते हैं कि जब हम निकले थे तो सिर्फ एक मंडप था।

CONNECT WITH US FOR LATEST UPDATES  –

FACEBOOK GROUP  JOIN NOW | CLICK HERE 
LIKE OUR FACEBOOK PAGE  CLICK HERE 
WHATSAPP GROUP   JOIN NOW | CLICK HERE 

रणवीर बैंक्वेट हॉल मैनेजर को बुलाते हैं और उससे सवाल करते हैं। मैनेजर का कहना है कि हमने वही किया जो कहा गया था, हमें बताया गया है कि आज तीन मंडपों की जरूरत है। रणवीर पूछते हैं कि किसने पूछा? प्रबंधक का कहना है कि वह। विक्रांत शेरवानी पहन कर वहां आता है। रणवीर उसे देखता है। तभी आशा म्यूजिक पर डांस करते हुए अंश के साथ एंट्री करती हैं। हर कोई उन्हें देखता है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close
x