नागर विमानन मंत्रालय ने ग्वालियर के किले में मनाया योग दिवस, सिंधिया ने इस ऐतिहासिक स्थल पर समारोह का किया नेतृत्व

ग्वालियर : नागर विमानन मंत्रालय ने ग्वालियर के किले में 2,000 से अधिक लोगों का योगाभ्यास आयोजित कर 21 जून 2022 को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया। इस समारोह का उद्घाटन और नेतृत्व नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने किया। नागर विमानन मंत्री द्वारा दीप प्रज्ज्वलित करके समारोह का प्रारंभ किया गया। इसके बाद योगाभ्यास स्थल पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के वर्चुअल सम्बोधन का प्रसारण किया गया।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001JCEU.jpg

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित करने का ऐतिहासिक निर्णय 2014 में लिया। योग की यह विश्वव्यापी स्वीकृति हमारे देश के लिए गौरव की बात है, क्योंकि योग हमारे देश की सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत का अभिन्न भाग है।

इस वर्ष का योग दिवस आजादी का अमृत महोत्सव वर्ष में मनाया जा रहा है जिसके लिए आयुष मंत्रालय ने भारत के 75 ऐतिहासिक स्थानों पर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने की योजना बनाई है। इससे वैश्विक स्तर पर भारत की ब्रांडिंग में मदद मिलेगी।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002B1RM.jpg 

योग के महत्व पर बल देते हुए  ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने कहा कि 21 जून भारत के लिए ऐतिहासिक दिन है क्योंकि इस वर्ष योग उत्सव 75 ऐतिहासिक स्थानों पर मनाजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत और विदेशों में रहने वाले प्रत्येक भारतीय के लिए यह महत्वपूर्ण दिन है। योग शरीर व आत्मा दोनों के लिए कार्य करता है और यह ईश्वर तथा मानव के बीच कड़ी के रूप में काम करता है। योग तनाव से मुक्ति पाने तथा मानव शरीर को रोग मुक्त करने में सहायक है और समाज में शांति प्राप्ति में भी सहायता करता है। उन्होंने कहा कि पूरा विश्व आज योगाभ्यास करेगा जो भारत की आध्यात्मिक शक्ति को रेखांकित करेगा।

 https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003CBQK.jpg

इस वर्ष के अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का विषय था “मानवता के लिए योग”। क्योंकि इसमें दिखाया गया था कि किस तरह कोविड-19 महामारी के शीर्ष स्तर पर पहुंचने के समय के दौरान योग ने पीड़ा कम करने में मानवता की सेवा की और कोविड के बाद उभरे भू-राजनीतिक परिदृश्य में भी करुणा, दया के माध्यम से लोगों को एक साथ लाने और पूरे विश्व के लोगों में एकता की भावना बढ़ाने तथा लचीलेपन की भावना को प्रोत्साहित कर रहा है।

समारोह में कॉमन योग प्रोटोकॉल, विशेषज्ञों द्वारा योग पर व्याख्यान तथा रानी लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान की योग विशेषज्ञों द्वारा योगाभ्यास प्रदर्शन किया गया। इस समारोह में सिंधिया के अतिरिक्त ग्वालियर के सांसद  विवेक नारायण शेजवालकर, मध्य प्रदेश के विद्युत मंत्री प्रधुमन सिंह तोमर, नागर विमानन सचिव  राजीव बंसल, नागर विमानन मंत्रालय में संयुक्त सचिव उषा पाधी, नागर विमानन मंत्रालय की संयुक्त सचिव  रुबीना अली, संयुक्त सचिव एस.के. मिश्रा, संयुक्त सचिव और वित्तीय सलाहकार श्री विमलेंद्र पटवर्धन, संयुक्त सचिव अम्बर दुबे तथा नागर विमानन मंत्रालय, राज्य सरकार तथा स्थानीय प्रशासन के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close