‘गुम है किसी के प्यार में’ साईं का टूटा दिल : विराट की हरकत से होली के रंग में पड़ी भंग

मुंबई : ‘गुम है किसी के प्यार में’ इन दिनों साईं विराट को मनाने में पूरी तरह लगी हुई है। साईं हर कोशिश कर रही है कि विराट किसी तरह उसे माफ कर दे और उसके प्यार काे फिर से अपना ले। लेकिन होली पर भी विराट की गुस्सा कम नहीं होगी। वह साईं के साथ कुछ ऐसा करने वाला है जिससे उसकी होली के रंग में भंग पड़ जाएगा। शो में विराट के इस व्यवहार से साईं टूट जाएगी और निराश होगी। उसे सहारा देने के लिए देवी उसकी मदद करेगी। 

साईं करेगी विराट को प्रपोज

साईं, देवी से बात करेगी और विराट को मनाएगी। वो देवी से कहेगी की उससे विराट बात नहीं कर रहा है तो उसे बुरा लग रहा है। देवी कहती है कि वो बात नहीं कर रहा तो तुम दुखी क्यों हो रही हो। जवाब में साईं कहती है कि जब मुझे मेरी गलती का एहसास हुआ है तो मैं अपनी गलती सुधारकर उनके साथ रहना चाहती हूं।

लेकिन विराट है कि मानने को तैयार नहीं है। मेरे प्रपोज करने पर भी बेरुखी दिखा रहा है। देवी कहती है जब तुम मुझे और पुलकित को मिलवा सकती है तो अपने को और विराट को क्यों नहीं मिलवा सकती।  

विराट ने दुखाया साईं का दिल

इसके बाद साईं विराट को प्रपोज करेगी और उसे अपने दिल की बात कहेगी कि वो उससे बहुत प्यार करती है। लेकिन विराट उसके प्यार को स्वीकार नहीं करेगा और ठुकरा देगा।

साईं को जल्द ही समझ आ जाएगा कि वो एक सपना देख रही है। सपना टूटते ही साईं अपना फैसला बदल देगी। साईं अपने दिल की बात कहे बिना वहां से चली जाएगी। 

सोते हुए विराट का कर देगी रंगीन

होली के दिन साईं, विराट को रंग लगाने की प्लानिंग करेगी। विराट बेड पर सो रहा है। साईं विराट को होली पर सबसे पहले रंग लगाना चाहती है। ऐसे में सोते हुए विराट के एक गाल पर रंग लगाती है और उसी गाल से अपने गाल पर रंग लगाती है।

इसे भी पढ़ें : विराट के साथ दिल खोलकर होली खेलेगी साईं..? पाखी को कहेगी नो एंट्री!

कुछ देर बाद जब विराट की आंख खुलती है तो अपने चेहरे पर लगा रंग देख वो भड़क जाता है और गुस्से में साईं को आवाज देता है। वो साईं से कहता है कि तुमने ही ये हरकत की है ना। तभी अचानक देवी वहां आ जाती हैं और साईं के इशारा करने पर वो विराट से कहती है कि मैंने तुम्हारे रंग लगाया है।

देवी ने साईं को किया माफ

देवी और साईं अच्छे से बात कर रहे होते हैं। इन दोनों को ऐसा करता देख विराट देवी से कहता है कि कल तक तो आप साईं की शक्ल भी देखना नहीं चाहती थी और आज इतने अच्छे से बात कर रही हैं।

जवाब में देवी कहती है कि साईं मेरी बहन है। इसके बाद साईं कहती है कि उसे देवी ने माफ कर दिया है। अब मुझे देवी के भाई को बस मनाना है।

परिवार के तानों का शिकार होगी साईं

साईं, देवी से बात कर नीचे आती है। जहां पर पाखी पहले ही सभी को कह चुकी है कि विराट ने साईं से अपना बेड अलग कर लिया है। ये सब सुनकर साईं को बुरा लगेगा। इसके बाद साईं घरवालों से कहेगी वो पूरी कोशिश कर रही है फिर से विराट और वो एक हो जाएं।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close