‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ में अभि के हाथों में मंजरी लेगी आखिरी सांस, पुलिस को देख आरोही के पसीने छूटे!

मुंबई । ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ टीवी शो में अभि और अक्षरा को शादी के बंधन में बंधने से पहले कई अग्नि परीक्षा से गुजरना होगा। फैंस को इन दोनों की शादी का बेसब्री से इंतजार था। लेकिन उनकी शादी से पहले ही बड़ी अड़चन आकर खड़ी हो गई। अभि की मां मंजरी का एक्सीडेंट हो गया।

वह एक्सीडेंट किसी और से नहीं बल्कि आरोही की कार से होता है। कहानी में ट्विस्ट यहीं खत्म नहीं होगा। आगे ऐसा बहुत कुछ होने वाला है, जो दर्शकों को भी आश्चर्य में डाल देगा।

मंजरी को हॉस्पिटल ले जाएगा अभि

अभि अपनी मां मंजरी को ढूंढ लेता है और उसे घायल हालत में अस्पताल लेकर पहुंचता है। वह जल्द से जल्द मंजरी का ऑपरेशन करने की कोशिश में लगा जाता है। दूसरी तरफ अक्षरा भी रोते हुए उसके पास पहुंचती है और बोलती है कि मां को कुछ नहीं होना चाहिए।

अस्पताल में पुलिसवाले भी पहुंच जाते हैं। जिनसे अभि कहता है कि आप पता लगाइए कि यह एक्सीडेंट किसने किया। भले ही एक्सीडेंट गलती से हुआ हो, लेकिन उसे मेरी मां को इस हालत में छोड़कर नहीं जाना चाहिए था।

आरोही की बढ़ी घबराहट

मंजरी के एक्सीडेंट के बारे में सुनकर आरोही की हालत खराब हो जाती है। वह नील से पूछती है कि पुलिस ने क्या पता लगाया है कि एक्सीडेंट कैसे हुआ। इस पर नील उसे बताता है कि अभी तक कुछ नहीं पता चल पाया है।

इसे भी पढ़ें : आरोही ने मिटाए सारे सबूत, अभि को गंभीर हालत में मिली उसकी मां मंजरी!

मां, मंदिर के पास से मिली थीं। यह बात सुनकर आरोही के पैरों तले जमीन खिसक जाती है। क्योंकि उसकी कार से मंदिर के पास ही एक्सीडेंट हुआ था।

पुलिस ने छानबीन की शुरु

मंजरी को घायल देखकर अभि पुलिस पर भड़क जाता है। ऐसे में पुलिस तत्काल अपनी जांच शुरू कर देती है। पूछतांछ अक्षरा से शुरू होगी। उससे पूछा जाता है कि मंदिर में मंजरी से हुई मुलाकात के बाद वह कहां थी।

इसे भी पढ़ें : अभि की मां घर से हुई लापता, अस्पताल में मिलेगा शव…!

अक्षरा इसका जवाब देने ही वाली थी कि वहां नर्स आ जाती है। दूसरी तरफ आरोही, नील से एक्सीडेंट की लोकेशन पता करने की कोशिश करती है। उसका जवाब सुनते ही आरोही के हाथ-पैर कांपने शुरू हो जाते हैं।

अभि की मां ने दमतोड़ा

ऑपरेशन के दौरान ही मंजरी की सांसें चलना बंद हो जाती हैं। यह देखकर अभि, आनंद और महिमा परेशान हो जाते हैं। उन्हें ऐसा देख अक्षरा भागे-भागे ऑपरेशन थिएटर में जाती है, जहां वह देखती है कि मंजरी का ऑपरेशन रुक चुका है और अभि उसके पास मायूस होकर बैठा है। मंजरी के दमतोड़ देने के बाद अस्पताल में सन्नाटा छा जाता है।

Share this with Your friends :

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
close